V-आकार के क्रोमोसोम को कहते हैं

V-आकार के क्रोमोसोम को कहते हैं-


1. मनुष्य में ऑटोसोम प्रकार के क्रोमोसोम की संख्या होती है-

(अ) 42         (ब) 44

(स) 46          (द) 48

उत्तर- ब


2. क्रोमोसोम के प्राथमिक संकुचन (प्राइमरी कांस्ट्रिक्शन) के अन्दर की रचना को कहते हैं-

(अ) क्रोमैटिड

(ब) क्रोमोनेमा

(स) सेन्ट्रोमियर

(द) मैट्रिक्स

उत्तर- स


3. V-आकार के क्रोमोसोम को कहते हैं-

(अ) मेटासेन्ट्रिक   (ब) सब मेटासेन्ट्रिक

(स) एक्रोसेन्ट्रिक  (द) सुपन्युमरी

उत्तर- अ

V आकार के गुणसूत्र को मेट्रासेन्ट्रिक कहते है।

V आकार का गुणसूत्र = मेट्रासेन्ट्रिक/आइसोब्रेकियल

L/S आकार का गुणसूत्र = सबमेट्रासेन्ट्रिक/हटेरोब्रेकियल

I आकार के गुणसूत्र = एकोसेन्ट्रिके/टीलोसेन्ट्रिक


4. निम्नलिखित में से कौन-सी बीमारी ऑटोसोम की संख्या परिवर्तन आने से होती है-

(अ) टर्नर-सिंड्रोम   (ब) क्लाइनफेल्टर-सिंड्रोम

(स) ट्रिपल फीमेल  (द) डाउन-सिन्ड्रोम

उत्तर- द


5. निम्नलिखित में से कौनसी क्रोमोसोम संख्या पीड़ित व्यक्तियों में होती है?

(अ) 44 + xy

(ब) 44 + xxx

(स) 44 + xo

(द) 44 + xxy

उत्तर- स


6. सामान्य स्त्री एवं वर्णांध पिता की संतान होंगी- (पी एम टी 2002)

(अ) सभी बच्चों सामान्य दृष्टि वाले एवं कोई वाहक नहीं

(ब) लड़के वर्णांध किंतु लड़कियाँ सामान्य

(स) लड़कियाँ वाहक किन्तु लड़के सामान्य

(द) सभी बच्चे वर्णांध

उत्तर- स


7. निम्नलिखित में से कौन-सा रोग लिंग-सहलग्न है?

(अ) हैजा

(ब) एडवर्ड- सिंड्रोम

(स) मंगोलिज्म

(द) हीमोफिलिया

उत्तर- द


8. हीमोफीलिया से पीड़ित पिता एवं रोग की वाहक माता की संतान होगी-

(अ) आधे लड़के सामान्य किन्तु आधे लड़के हीमोफिलिक,

(ब) सभी लड़के हीमोफिलिक,

(स) सभी लड़कियाँ हीमोफिलिक,

(द) आधी लड़कियाँ सामान्य एवं आधी लड़कियाँ रोगी।

उत्तर- अ


9. निम्नलिखित में से कौन म्यूटाजेनिक पदार्थ है-

(अ) मस्टर्ड गैस   (ब) रेडियोधर्मी पदार्थ 

(स) अल्ट्रावायलेट किरणें  (द) उपरोक्त सभी।

उत्तर- द


10. नई किस्म प्राप्त की जा सकती है- 

(अ) म्यूटेशन से  (ब) संकरण से (hybridisation)

(स) चयन से (selection )  (द) उपरोक्त सभी

उत्तर- द


11. म्यूटेशन कहते हैं-

(अ) कोशिका के आनुवंशिकी पदार्थ में अस्थाई परिवर्तन को

(ब) कोशिका के आनुवंशिकी पदार्थ के स्थाई एवं वंशागत परिवर्तन को

(स) कोशिका के जीवद्रव्य के किसी भी परिवर्तन को

(द) किसी भी प्रकार की विविधता को

उत्तर- ब


12. दो जीन A तथा B परस्पर, सहलग्न (linked) है। AB/ab तथा ab/ab के बीच संकरण से प्राप्त होने वाली संतानों के जीनोटाइप होंगे-

(अ) AAbb तथा aabb

(ब) AaBb dथा aabb

(स) AABB तथा aabb

(द) उपरोक्त में से कोई नहीं

उत्तर- ब


13. डीएनए में न्यूक्लियोटाइड को क्रम में परिवर्तन को कहते हैं-

(CBSE, 2002)

(अ) उत्परिवर्तजन (mutagen) 

(ब) उत्परिवर्तन (mutation)

(स) पुनर्योजन

(द) अनुवाद

उत्तर- ब


14. निम्न में से कौनसा युग्म सुमेलित है- (CBSE, 2002)

(अ) डाउन सिंड्रोम - 21वाँ गुणसूत्र

(ब) दांत्र कोशिका अरक्तता - x-गुणसूत्र

(स) हिमोफिलिया - y गुणसूत्र

(द) परकिन्सन रोग - x और y गुणसूत्र

उत्तर- अ


15. निम्न में से कौनसी रचना एक गुणसूत्र में एक से अधिक तथा पाँच से कम पायी जाती है-

(अ) अर्द्धगुणसूत्र (chromatid)

(ब) वर्णकणिका (chromemere)

(स) गुणसूत्र बिन्दू (centromere)

(द) अन्तःखण्ड (telomere)

उत्तर- द


16. एक मनुष्य किसी रोग से ग्रस्त है और वह एक सामान्य स्त्री से विवाह करता है। उसके तीन पुत्रियाँ तथा पाँच पुत्र जन्म लेते हैं। इनमें से सभी पुत्रियाँ पिता के रोग से ग्रस्त थीं जबकि सभी पुत्र सामान्य थे। इस रोग की जीन हैं- (सीबीएसई 2002)

(अ) लिंग सहलग्न प्रभावी 

(ब) लिंग सहलग्न अप्रभावी

(स) लिंग सीमित लक्षण 

(द) ऑटोसोमल प्रभावी

उत्तर- अ


17. निम्न में से लिग सहलग्न रोग का उदाहरण है- (सीबीएसई 2002)

(अ) एड्स

(ब) वर्णान्धता

(स) सिफिलिस

(द) गोनोरिया

उत्तर- ब


18. आनुवंशिक नक्शा (Genetic map) वह है जो-

(अ) कोशिका विभाजन की अवस्थाएँ दर्शाता है।

(ब) किसी क्षेत्र में विभिन्न जातियों का वितरण दर्शाता है।

(स) गुणसूत्र पर जीनों का स्थान सुनिश्चित करता है।

(द) जीन विकास को अवस्थाएँ सुनिश्चित करता है।

उत्तर- स


19. जब जीनों का एक समूह सलग्नता (linkage) दर्शाता है तब- (सीबीएसई 2003)

(अ) ये स्वतन्त्र अपव्यूहन नहीं दर्शाते।

(ब) ये कोशिका विभाजन को प्रेरित करते हैं।

(स) गुणसूत्र नक्शा (Chromosome map) नहीं दर्शाते।

(द) मिओसिस (Meiosis) के समय रिकॉम्बिनेशन दर्शाता है।

उत्तर- अ


20. फलमक्खी के x-गुणसूत्र के सहलग्न नक्शे (Linkage maps) में 66 इकाइयाँ हैं। जिनमें एक सिरे पर पीले शरीर हेतु जीन (y) एवं दूसरे सिरे पर झब्बेदार बालों (bobbed hair ) हेतु जीन (b) स्थित हैं। इन दोनों जीनों (y और b) के मध्य रिकॉर्म्बिनेशन आवृत्ति (Recombination Frequency) होना चाहिए। (सीबीएसई 2003)

(अ) < 50%

(ब) 100%

(स) 66%

(द) > 50%

उत्तर- ब


21. उत्परिवर्तन की क्रिया में जब एडिनीन का प्रतिस्थापन ग्वानीन द्वारा होताहै तब यह कहलाता है- (सीबीएसई 2004)

(अ) फ्रेम शिफ्ट उत्परिवर्तन

(ब) अनुलेखन (Transcription)

(स) ट्रांजिशन (Transition)

(द) ट्राँसवर्जन (transversion)

उत्तर- स


22. मनुष्य x-गुणसूत्र पर स्थित अप्रभावी जीन हमेशा-

(सीबीएसई 2004)

(अ) घातक होते हैं 

(ब) अर्धघातक होते हैं

(स) नर में अभिव्यक्त होते हैं 

(द) मादा में अभिव्यक्त होते हैं।

उत्तर- स


23. जीन विनिमय जिसके फलस्वरूप उच्च जीवों में आनुवंशिक पुनःसंयोजन होता है, निम्न में से किसके मध्य पाया जाता है- (सीबीएसई 2004)

(अ) किसी बाइवेलेन्ट की सिस्टर क्रोमेटिड के मध्य।

(ब) किसी बाइवेलेन्ट की नॉन सिस्टर क्रोमेटिड के मध्य।

(स) दो पुत्री केन्द्रकों।

(द) दो विभिन्न बाइवेलेन्ट।

उत्तर- ब


24. यूकैरियोटिक गुणसूत्रों का टीलोमीटर कुछ छोटे न्यूक्लियोटाइड क्रमों का बना होता है जो होते हैं-

(सीबीएसई 2004)

(अ) थायमीन के धनी

(ब) सायटोसीन के धनी

(स) एडिनीन के धनी 

(द) ग्वानीन के धनी।

उत्तर- द


25. एक सामान्य स्त्री जिसका पिता वर्णान्ध है, एक सामान्य पुरुष के साथ विवाह करती है तो इसके पुत्र होंगे- (सीबीएसई 2004)

(अ) 75% वर्णान्ध

(ब) 50% वर्णान्ध

(स) सभी सामान्य 

(द) सभी वर्णान्ध

उत्तर- ब


26. एक महिला एवं पुरुष जो किसी आनुवंशिक रोग के लक्षण नहीं दर्शाते हैं, के सात बच्चे (2 लड़कियाँ तथा 5 लड़के) हैं। इनमें से तीन लड़के रोग से पीड़ित हैं जबकि कोई भी लड़की रोग से प्रभावित नहीं है। इस रोग हेतु तुम निम्न में से वंशागति की किस विधि को प्रस्तावित करोगे- (सीबीएसई 2005)

(अ) अलिंगीप्रभावी (autosomal dominant)

(ब) लिंग सहलग्न प्रभावी (Sexlinled dominant)

(स) लिंगसीमित अप्रभावी (sex limited recessive)

(द) लिंग सहलग्न अप्रभावी (Sexlinked recessive)

उत्तर- द


27. एक सामान्य महिला जिसके पिता वर्णान्ध थे, एक वर्णान्ध पुरुष से विवाह करती है। यदि माना जाए कि इस जोड़ी का चौथा बच्चा लड़का है, तब यह लड़का- (सीबीएसई 2005)

(अ) सामान्य दृष्टि वाला होना चाहिए।

(ब) आंशिक रूप से वर्णांध होगा क्योंकि यह वर्णांध प्रभावी एलील हेतु विषम युग्मजी है।

(स) वर्णांध होना चाहिए।

(द) वर्णांध हो सकता है अथवा सामान्य हो सकता है।

उत्तर- द


28. हीमोफीलिया महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में सामान्य रूप से पाया जाता है क्योंकि-

(सीबीएसई 2005)

(अ) यह रोग x-सहलग्न प्रभावी उत्परिवर्तन के कारण होता है।

(ब) लड़कियों की संख्या का बहुत बड़ा भाग बाल्यावस्था में मर जाता है।

(स) यह रोग x-सहलग्न अप्रभावी उत्परिवर्तन द्वारा होता है।

(द) यह रोग y-सहलग्न अप्रभावी उत्परिवर्तन द्वारा होता है।

उत्तर- स


29. किसी महिला में 21वें गुणसूत्र की तीन प्रतिकृतियों के कारण 47 गुणसूत्रों की उपस्थिति मुख्य लक्षण है- (सीबीएसई 2005 )

(अ) डाउन सिण्ड्रोम का 

(ब) त्रिगुणिता का

(स) टर्नर सिण्ड्रोम का 

(द) सुपर फीमेलनेस का।

उत्तर- अ


30. यदि कोई वर्णान्ध स्त्री एक सामान्य दृष्टि वाले पुरुष से विवाह करती है तो उनके पुत्र कैसे होंगे?

(सीबीएसई 2006)

(अ) सभी सामान्य दृष्टि वाले

(ब) आधे वर्णान्ध तथा आधे सामान्य

(स) तीन चौथाई वर्णान्ध तथा एक चौथाई सामान्य

(द) सभी वर्णान्ध

उत्तर- द


31. सूची-I को सूची-II से मिलाकर नीचे दिये गये कूट का प्रयोग करते हुए सही उत्तर का चयन कीजिए-  (पीएमटी 2001)

सूची-1                             सूची-II

संलक्षण                        गुणसूत्र अपसामान्यता

1. पटाऊ संलक्षण           (a) 44 + Xxy = 47

2. क्लाइनफेल्टर संलग्न  (b) 44 + x = 45

3. डाउन संलक्षण           (c) 46 + 1 = 47 गुणसूत्र 21

4. टर्नर संलक्षण             (d) 46 + 1 =(47) गुणसूत्र 13

कूट:

        1    2    3    4

(अ)  a    b    c    d   

(ब)  d    c    b    a

(स)   c    b    d    a

(द)    c    a    d    

उत्तर- द


32. एक समुदाय में उत्परिवर्तित जीन की संख्या बढ़ने की सम्भावना है यदि जीन है-

(पीएमटी 2001)

(अ) प्रभावी

(ब) अप्रभावी

(स) लिंग सहलग्न

(द) उपर्युक्त चयनित

उत्तर- अ


33. मानव में सन्तान का लिंग निर्धारण होता है- (PMT 2001, 2003)

(अ) माँ के लिंग गुणसूत्र से 

(ब) पिता के लिंग गुणसूत्र से

(स) अण्डाणु के माप से 

(द) शुक्राणु के माप से

उत्तर- ब


34. मनुष्य में गुणसूत्र के 33वें जोड़े को कहते हैं- (PMT, 2002)

(अ) क्रोमेटिड

(ब) हेटेरोसोम

(स) ऑटोसोम

(द) जीन

उत्तर- ब


35. मानव में पायी जाने वाली एक अपसामान्यता जिसे टर्नलक्षण कहते हैं, इसमें प्रभावित व्यक्ति समलक्षणी रूप से मादा होते हैं, उनके जननांग व स्तन अल्पवर्धित होते हैं, का कारण होता है-(PMT 2002)

(अ) एक x गुणसूत्र 

(ब) एक y गुणसूत्र की कमी

(स) दोनों गुणसूत्रों की कमी 

(द) xy गुणसूत्रों की कमी।

उत्तर- अ


36. पुरुषों में होने वाली अपसामान्यता जिसमें वृषण के ठीक से परिवर्धन न होने के कारण वे सदैव बांझ होते हैं क्योंकि उनमें एक अतिरिक्त x गुणसूत्र (47 + xxy) होता है, कहलाती है- (पीएमटी 2002)

(अ) हंटिगन व्याधि

(ब) मार्फन लक्षण

(स) क्लाइनफेल्टर संलक्षण

(द) टर्नर संलक्षण

उत्तर- स


37. लैम्पब्रश गुणसूत्र विशेष प्रकार के गुणसूत्र होते हैं जो पाये जाते हैं-

(अ) डिप्टेरा की लार ग्रंथियों में

(ब) सरीसृप की जनन कोशिकाओं में

(स) उभयचारियों के अण्डक में

(द) मस्तिष्कीय आदि कोशिकाओं में

उत्तर- स


38. गुणसूत्र केन्द्रक में एक धागे जैसी संरचना होती है, इसका वर्णन सर्वप्रथम किया था-

(अ) मेण्डल ने

(ब) स्ट्रॉसबर्गर ने

(स) डार्विन ने

(द) लेविज्रकी ने

उत्तर- ब


39. एक ऐसी तकनीक द्वारा किया गया है जिसमें विशेष रंजक का प्रयोग करते हैं जो बहुधा प्रदीप्तिकारी होती है, इसे कहते हैं- (पीएमटी 2002)

(अ) रंजक तकनीक (ब) बैंडिंग तकनीक

(स) अति सूक्ष्म रंजक तकनीक (द) गुणसूत्र प्राख्सीय तकनीक

उत्तर- द


40. गुणसूत्र की जीनी संरचना को एक कोशिका पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ले जाने का कार्य प्रतिपादित होता है-

(पीएमटी 2002)

(अ) RNA द्वारा

(ब) DNA द्वारा

(स) हिस्टोन द्वारा

(द) कैल्सियम द्वारा

उत्तर- ब


41. आकृति के आधार पर मानव के 23 गुणसूत्र व्यवस्थित होते हैं-

(पीएमटी 2002)

(अ) 5 समूहों में

(ब) 6 समूहों में

(स) 7 समूहों में

(द) 8 समूहों में

उत्तर- स


42. स्त्री में लिंग गुणसूत्र होते हैं-

(अ) xx

(ब) xy

(स) yy

(द) xxy

उत्तर- अ


43. आनुवंशिक लक्षणों के वाहक होते हैं-

(अ) गुणसूत्र

(ब) जीन

(स) युग्मक

(द) युग्मक जनक

उत्तर- ब


44. टर्नर सिंड्रोम गुणसूत्रों का क्रम होता है- (पीएमटी 2003)

(अ) xo

(ब) xxx

(स) xyx

(द) xxy

उत्तर- अ


45. एडवर्ड सिंड्रोम, पटाउ सिंड्रोम तथा डाउन सिंड्रोम किस कारण होते हैं?

(पीएमटी 2003)

(अ) जीन में होने वाले उत्परिवर्तन

(ब) लिंग गुणसूत्रों व आंटोसोम दोनों में परिवर्तन

(स) ऑटोसोम में परिवर्तन

(द) लिंग गुणसूत्रों में परिवर्तन

उत्तर- स


46. क्लाइनफेल्टर्स सिंड्रोम में गुणसूत्रों की संख्या होती है-

(पीएमटी 2003)

(अ) 47

(ब) 46

(स) 45

(द) 44

उत्तर- अ


47. निम्नलिखित में से कौनसा रोग लिंग- सहलग्न है-

(पीएमटी 2003)

(अ) डाल्टनिस्म  (ब) वर्णान्धता

(स) जीरोडर्मा (द) हाइपरट्राइकोसिस

उत्तर- ब


48. दो से अधिक जीनोम या गुणसूत्रों के समूहों की उपस्थिति कहलाती है-

(अ) पोलीटीन

(ब) मोनोप्लॉइडी

(स) पोलीप्लॉइडी

(द) एन्यू प्लॉइडी

उत्तर- स


49. मनुष्य में लिंग सहलग्न की वंशानुगति मुख्यतः होती है-

(पीएमटी 2003, 04)

(अ) ऑटोसोम्स से

(ब) y गुणसूत्रों से

(स) x गुणसूत्रों से 

(द) 'ब' एवं 'स' दोनों से

उत्तर- द


50. एक आदमी के शुक्राणु में आटोसोम की संख्या होती है

(पीएमटी 2003)

(अ) 23

(ब) 22

(स) 46

(द) 44

उत्तर- द


51. क्लाइनफेक्टर्स सिण्ड्रोम में गुणसूत्रों का क्रम होता है-

(पीएमटी 2004)

(अ) xx

(ब) xxy

(स) xy

(द) xo

उत्तर- ब


52. निम्नलिखित में से कौनसा केवल आरएनए में पाया जाता है लेकिन डी एन ए में नहीं?

(अ) एडीनीन

(ब) थायमीन

(स) ग्वानीन

(द) यूरेसिल

उत्तर- द


53. मंगोलिज्म को कहते हैं-(पी एम टी 2004)

(अ) टर्नर सिंड्रोम

(ब) हायपोथेलिक सिंड्रोम

(स) क्लाइनफेल्टर्स सिंड्रोम

(द) डाउन सिंड्रम

उत्तर- द


54. मनुष्य में निम्नलिखित में से कौनसा जीनोटाइप एवं फीनोटाइप लिंग गुणसूत्रों की एन्युप्लोइडी के सन्दर्भ में सही परिणाम है?

(पीएमटी 2005)

(अ) 22 जोड़े + xxy नर

(ब) 22 जोड़े + xy मादाएँ

(स) 22 जोड़े + xxxy मादाएँ 

(द) 22 जोड़े + y मादाएँ

उत्तर- अ


55. सहलग्नता का सर्वप्रथम अध्ययन किया था- (पीएमटी 2001)

(अ) डार्विन ने

(ब) मॉर्गन ने

(स) बेटसन एवं पुनेट ने

(द) मेंडल ने

उत्तर- ब


56. गुणसूत्र का आधार इससे निर्धारित होता है- (पी. एम. टी. 2001)

(अ) अंतखंड

(ब) गुणसूत्र बिंदु

(स) वर्णकणिका

(द) तारककॉय

उत्तर- स


57. पॉलीटीन गुणसूत्र कुछ विशेष ऊतकों में पाये जाते हैं-

(पीएमटी 2002)

(अ) मांसपेशियाँ

(ब) लार ग्रंथियां

(स) सम्पर्क ऊतक

( द) एन्डोक्राइन ग्रंथियां

उत्तर- ब


58. जब गुणसूत्र बिन्दु गुणसूत्र के एक सिरे पर होता है, तो उसे कहते  हैं- (पी एम टी 2002)

(अ) अग्र बिन्दुक

(ब) मध्य केन्द्री

(स) उपमध्यकेन्द्री

(द) अन्तकेन्द्री

उत्तर- द


59. किस जीवधारी के लार ग्रंथियों के क्रोमोसोम का सर्वाधिक अध्ययन हुआ है- (PMT, 2002)

(अ) सैल्विया

(ब) ड्रोसोफिला

(स) ट्रिलियम

(द) बन्दर

उत्तर- ब


60. x-किरणों के उत्परिवर्तनकारी प्रभाव की खोज की थी- PMT, 2003

(अ) टी एच मॉर्गन

(ब) एच. जे. मुलर

(स) बीडल

(द) ह्यूगो डी ब्रीज

उत्तर- ब


61. ड्रॉसोफिला के विशालकाय गुणसूत्र मिलते हैं- (पीएमटी 2003)

(अ) लार ग्रंथियों में

(ब) वृषणों में

(स) अंडाशयों में

(द) पेशियों में

उत्तर- अ


62. गुणसूत्रों को सर्वप्रथम देखा था- (PMT, 2003)

(अ) वाल्डेयर ने

(ब) फ्लेमिंग ने

(स) हॉफमिस्टर ने

(द) स्ट्रासबर्गर ने

उत्तर- अ


63. एक विशेष जीन की संरचना एवं क्रियाओं में एक आकस्मिक या स्वतः जनित परिवर्तन को कहते हैं- (PMT, 2004)

(अ) विभिन्नता

(ब) एलीलोनार्फ

(स) सहलग्नता

(द) उत्परिवर्तन

उत्तर- द


64. उत्परिवर्तन जो जीन के अन्दर न्यूक्लियोटाइड के क्रम को परिवर्तित कर देता है, कहलाता है- (पीएमटी, 2005)

(अ) फ्रेम शिफ्ट उत्परिवर्तन (ब) क्षार युग्म प्रतिस्थापन

(स) 'अ' और 'ब' दोनों          (द) इनमें से कोई नहीं

उत्तर- स


65. यूकैरियोटिक गुणसूत्र प्रोकैरियोटिक से भिन्न होते हैं क्योंकि ये बने होते हैं- (पीएमटी 2005)

(अ) RNA के

(ब) DNA के

(स) DNA तथा लिपिड के 

(द) DNA तथा हिस्टोन के

उत्तर- द


Polytene chromosome is first observed in

पालीटीन गुणसूत्र सर्वप्रथम देखा गया-

(a) Housefly/घरेलू मक्खी में

(b) Honeybee/मधुमक्खी में

(c) Drosophila/ड्रोसोफिला में

(d) None of these/इनमें से कोई नहीं

TGT Biology 2010

Ans. : (d) पालीटीन गुणसूत्र सर्वप्रथम Chironomous Tantanus वालबिएनी (Balbiani) द्वारा देखा गया था। बाद में वे ड्रोसोफिला कीटों के लार्वा की लार ग्रन्थियों में पाये गये। पालीटीन गुणसूत्र दीर्घ आकृति वाले गुणसूत्र है। Drasophila Melanogaster में पाये जाने वाले पालीटीन गुणसूत्र सामान्यतः दैहिक गुणसूत्र की अपेक्षा एक हजार गुना अधिक बड़े होते है।


Chromatin Contains:

क्रोमेटिन में उपस्थित होता है

(a) DNA and RNA DNA TRNA

(b) RNA and Histones/RNA AT Histones

(c) DNA and Histones DNA तथा हिस्टोन

(d) DNA RNA Histones/DNA+ RNA+ हिस्टोन

TGT Biology 2011


Which of the following is the largest chromosome?

निम्नलिखित में से कौन सबसे बड़ा गुणसूत्र होता है?

(a) X-chromosome/X-गुणसूत्र

(b) Polytene chromosome/पालीटीन गुणसूत्र

(c) Multibanded chromosome/बहुपट्टीय गुणसूत्र

(d) Lampbrush chromosome/लैम्पब्रश गुणसूत्र

TGT Biology 2010

Ans. : (d) लैम्पब्रश गुणसूत्र सबसे बड़ा गुणसूत्र होता है। समजात गुणसूत्र डिप्लोटीन प्रावस्था से पहले ही परस्पर जुड़कर इस प्रावस्था में पृथक होने की दशा में होते हैं और केवल कैज्मैटा पर जुड़कर रह जाते हैं। अब प्रत्येक जोड़ी के दो समजात गुणसूत्रों के क्रोमैटिन तन्तु अकुण्डलित होकर एक केन्द्रीय अक्ष के इधर-उधर पार्श्व में 30 एमएम सोलीनॉइड तन्तुओं के छल्लों के रूप में फैल जाते हैं। जिससे गुणसूत्र जोड़ी बोतल साफ करने वाले ब्रश जैसी दिखाई देने लगती है। इसे लैम्पब्रश गुणसूत्र कहते हैं।


Post a Comment

Previous Post Next Post