विश्व पत्रकारिता का संक्षिप्त इतिहास


  • अपनी​ निष्पक्षता और निर्भीकता के कारण ही पत्रकारिता लोकतंत्र के सशक्त माध्यम के रूप में उभरकर आम जनता के सम्मुख प्रस्तुत हुई।

'पत्रकारिता से अधिक मनोरंजक, अधिक चुनौतीपूर्ण, अधिक रसमयी और अधिक जनहितकारी कोई दूसरी बात मुझे दिखाई नहीं देती।'

- एडीसन, अंग्रेजी साहित्यकार


  • कागज और मुद्रण का आविष्कार सर्वप्रथम चीन में हुआ। 
  • ऐसा माना जाता है कि चीन में ही सबसे पहला समाचार पत्र निकला जिसका नाम 'पेकिंग गजट' अथवा 'तिंचाओ' था। 
  • यूरोप में पहली प्रेस की स्थापना सन 1440 में हुई। 
  • जर्मनी के गुटेनबर्ग नामक एक व्यक्ति ने इस प्रेस को स्थापित किया था। 
  • इंग्लैंड में कैक्सटन ने वर्ष 1477 में प्रेस स्थापित की।
  • इंग्लैंड का पहला समाचार पत्र 1603 ई. में प्रकाशित हुआ था। 
  • सन 1666 में लंदन गजट प्रकाशित हुआ। यह सप्ताह में दो बार प्रकाशित होता था।
  • विश्व में सबसे पहला समाचारपत्र यूरोप से निकाला।
  • हॉलैंड में 1526 ई. में पहला समाचारपत्र प्रकाशित हुआ।
  • जर्मनी में 1610 ई. में, इंग्लैंड में 1622 ई. में, अमेरिका में 1660 ई. में, रूस में 1703 ई. में और 1737 ई. में फ्रांस में पहला समाचार पत्र प्रकाशित हुआ।
  • इंग्लैंड में 'पोस्टमैन' नाम से पहला साप्ताहिक समाचार पत्र 21 सितंबर, 1622 को लन्दन से निकला।
  • लंदन से 11 मार्च, 1702 को पहला दैनिक पत्र 'डेली करेंट' प्रकाशित हुआ था।
  • लंदन के 'दि टाइम्स' पत्र की स्थापना 1785 ई. में हुई।


समाचार पत्र   - स्थापना वर्ष

गार्जियन           - 1881 ई.

डेली टेलीग्राफ  - 1855 ई.

ईवनिंग न्यूज     -1881 ई.

फाइनेंशियल टाइम्स -1888 ई.

डेली मेल  -1896 ई. 

डेली एक्सप्रेस -1900 ई.

डेली मिरर - 1903 ई.


नोट: गार्जियन समाचार पत्र 'मैनचेस्टर गार्जियन' के नाम से विख्यात था।

  • रविवारीय पत्रों में 'आब्जर्वर' 1791 ई. में, 'न्यूज ऑफ दि वर्ड' 1853 ई. में, 'संडे टाइम्स' 1822 ई. में, 'संडे पीपल' 1881 ई. में शुरू हुए।
  • रोमन साम्राज्य में संवाद लेखकों की व्यवस्था के प्रमाण मिलते हैं। ईसा से पांचवीं शताब्दी पूर्व ये संवाद लेखक हाथ से लिखकर समाचारों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया करते थे। 
  • जूलियस सीजर ने 60 ई.पू. में 'एक्टा डोएना' नाम से दैनिक बुलेटिन निकाला जो राज्य की जरूरी सूचनाओं का एक हस्तलिखित पोस्टर होता था। 
  • 1350 वर्ष पूर्व चीन में विश्व का पहला पत्र 'तिंचाओ' शुरू हुआ था। यह हस्तलिखित पत्र था।
  • विश्व का सबसे पुराना नियमित समाचार पत्र स्वीडन का 'पोस्ट ओच इनरिक्स ट्रिडनिंगर' था जिसे रायल स्वीडिश अकादमी ने 1644 ई. में छापना शुरू किया था।
  • विश्व का सबसे पुराना व्यावसायिक समाचार पत्र 8 जनवरी, 1658 को हॉलैंड में 'बीकेलिक करंत बात यूरोप' नाम से शुरू हुआ था। आज इसका नाम 'हार्लेक्स दोगब्लेडे हारलमेश कूरंत' है।
  • विश्व का पहला दैनिक समाचार पत्र 'मार्निंग पोस्ट' था, जो 1772 में लंदन से प्रकाशित होना शुरू हुआ था।

आजादी से पूर्व विदेशों में हिन्दी पत्रकारिता


  • विदेशों में हिन्दी पत्रकारिता का जन्म सन 1883 में माना जाता है।  
  • लन्दन से 'हिन्दुस्तान' नामक त्रैमासिक पत्र का प्रकाशन प्रारंभ हुआ था। इसके संस्थापक राजा रामपाल सिंह थे। यह त्रिभाषी रूप में प्रकाशित होता था और इसमें हिन्दी के साथ उर्दू तथा अंग्रेजी का अंश भी रहता था। 
  • दो वर्ष तक वहां से प्रकाशित होने के बाद 1885 में यह पत्र कालाकांकर (अवध) से प्रकाशित होना शुरू हुआ।
  • वर्ष 1887 ई. में इसका स्वरूप दैनिक हो गया। अमृतलाल चक्रवर्ती, शशिभूषण चक्रवर्ती, प्रतापनारायण मिश्र, बालमुकुन्द गुप्त, गोपाल राम गहमरी, लालबहादुर, गुलाब चन्द्र चौबे, शीतल प्रसाद उपाध्याय, रामप्रसाद सिंह तथा शिवनारायण सिंह इसके सम्पादक रहे।
  • ओरोगन राज्य के पोर्टलैंड में भारतीयों ने 'हिन्दी एसोसिएशन' नाम की एक संस्था बनाई। प्रसिद्ध क्रांतिकारी लाला हरदयाल ने इस संकल्प की पहल की।


Post a Comment

Previous Post Next Post