733 students of Ayurveda in India create world record by doing nostalgia together

भारत में आयुर्वेद के 733 छात्रों ने एक साथ नस्य कर्म कर बनाया विश्व रिकॉर्ड 

         

जयपुर में 15 सितंबर को राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान में चल रहे तीन दिवसीय युवा महोत्सव के दूसरे दिन गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए आयोजित ‘मोस्ट पीपुल रिसिविंग पंचकर्म ट्रीटमेंट साइमलटेनसली‘ कार्यक्रम 733 छात्र-छात्राओं ने 7 से भी ज्यादा मिनट तक पंचकर्म की एक विधि नस्य कर्म कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा दिया। आयुर्वेद में खासकर नस्य पंचकर्म को अपनाकर माइग्रेन, अनिद्रा और मस्तिष्क जैसी गंभीर बीमारियों के अलावा खांसी-जुकाम जैसी आम बीमारियों से भी निजात मिल सकती है। 


कार्यक्रम में 1564 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया, जिसमें से 733 छात्र-छात्राओं ने 7 से भी ज्यादा मिनट तक पंचकर्म की एक विधि नस्य कर्म कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा दिया। इतने छात्रों द्वारा एक साथ नस्य कर्म करने वाला यह अनूठा रिकॉर्ड है। आयुर्वेद के अनुसार नस्य कर्म क्रिया को नियमित करने से कान, नाक, बाल, मुख आदि हिस्सों में होने वाली विभिन्न बीमारियों से मुक्ति पाई जा सकती है। 

Post a Comment

Previous Post Next Post