Thursday, October 3, 2019

History quiz: हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी के संस्थापकों में से एक थे

'न्यू लैम्प्स फॉर ओल्ड' लेख श्रृंखला 1893—94 में 'सर्वहारा—वर्ग' के साथ संपर्क से बाहर होने के लिए कांग्रेस की आलोचना की गई थी।
इन लेखों का लेखक कौन था?
अ. अरविंद घोष
ब. ए.ओ.ह्यूम
स. जी.के. गोखले
द. बी.जी. तिलक
उत्तर— अ
तत्कालीन भारतीय परिस्थितियों के कारण एवं कांग्रेस की साम्राज्यवादी शक्तियों के समक्ष नरम रवैया अपनाने के कारण अरविंद घोष ने अपनी लेख—श्रृंखला 'New Lamps for Old' में कांग्रेस की आलोचना की थी।
गदर पार्टी की स्थापना किस वर्ष हुईं,
अ. 1907 में
ब. 1913 में
स. 1917 में
द. 1920 में
उत्तर— ब
नोट— वर्ष 1913 में सोहन सिंह भाखना के नेतृत्व में पोर्टलैंड में 'हिंदुस्तान एसोसिएशन आॅफ दि पैसिफिक कोस्ट' नामक संस्था की स्थापना हुई। इस संस्था ने 'गदर' नामक एक अखबार निकाला, जिससे इस संस्था का नाम भी गदर पार्टी पड़ गया। लाला हरदयाल इस संस्था के सदस्य, पथ—प्रदर्शक थे।
गदर क्रांति छिड़ने का सबसे महत्त्वपूर्ण कारण क्या था?
अ. लाला हरदयाल की गिरफ्तारी
ब. कामागाटामारू की घटना
स. प्रथम विश्वयुद्ध का शुरू होना
द. करतार सिंह सराभा को फांसी
उत्तर— स

'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा' यह वक्तव्य किससे संबंधित है?
अ. लाला लाजपत राय
ब. महात्मा गांधी
स. बाल गंगाधर तिलक
द. सुभाष चंद्र बोस
उत्तर— स
स्वराज आम जनता के लिए होना चाहिए केवल वर्गों के लिए नहीं, के प्रसिद्ध सूत्र की घोषण की?
अ. सी.आर. दास ने
ब. सी. राजगोपालाचारी ने
स. मोतीलाल नेहरू ने
द. गोपीनाथ ने
उत्तर— ब
निम्नलिखित में से किस नेता ने 1906 में कलकत्ता कांग्रेस अधिवेशन की अध्यक्षता की थी?
अ. बाल गंगाधर तिलक
ब. गोपाल कृष्ण गोखले
स. अरबिन्द घोष
द. दादाभाई नौरोजी
उत्तर— द
निम्नलिखित में किसने ऑल इंडिया मुस्लिम लीग की स्थापना की थी?
अ. सर सैय्यद अहमद खां
ब. सर मोहम्मद इकबाल
स. ​आगा खान
द. नवाब सलीमुल्लाह खान
उत्तर— द
दिसंबर, 1906 में

बंगाल विभाजन की घोषण की गई—
अ. 19 जुलाई, 1905 को
ब.7 अगस्त, 1905 को
स. 15 अगस्त, 1905 को
द. 16 अक्टूबर, 1905 को
उत्तर— अ
नोट— बंगाल विभाजन का प्रस्ताव 3 दिसंबर, 1903 को ब्रिटिश संसद में रखा गयां इसकी औपचारिक घोषणा 19 जुलाई, 1905 को की गई। इसका उद्देश्य बंगाल प्रेसीडेंसी में फैल रहे 'राष्ट्रवाद' को विभाजित करना था। बंगाल विभाजन 16 अक्टूबर, 1905 को प्रभावी हुआ। इस दिन को रवींद्र नाथ टैगोर ने 'रक्षाबंधन' के रूप में मनाने की सलाह दी।

कर्जन वाइली की हत्या के आरोप में किसे मृत्युदंड दिया गया?
अ. मदनलाल धींगरा
ब. उधम सिंह
स. भगत सिंह
द. मन्मथनाथ
उत्तर— अ

नोट— कर्जन वाइली की हत्या 1 जुलाई, 1909 को लंदन में मदन लाल धींगरा ने गोली मारकर की। वाइली भारतमंत्री के एक बॉडीगार्ड के रूप में नियुक्त थे। 17 अगस्त, 1909 को मदन लाल धींगरा को फांसी की सजा दी गई।


हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी के संस्थापक नेताओं में एक थे—
अ. बी.आर. अम्बेडकर
ब. भगत सिंह
स. सुभाष चंद्र बोस
द. जय प्रकाश नारायण
उत्तर— ब
निम्नलिखित पंक्तियों को किसने लिखा?
'सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना है जोर कितना बाजू—ए—कातिल में हैं।'
​अ. बिस्मिल  ब. राजगुरु
स. भगत सिंह  द. आजाद
उत्तर— अ
नोट— उपर्युक्त गजल की पंक्तियां शायर बिस्मिल अजीमाबादी की थीं।

' इंकलाब जिंदाबाद' का नारा किसने दिया?
अ. इकबाल  ब. एम.के.गांधी
स. भगत सिंह द. सुभाष चंद्र बोस
उत्तर— स
नोट— 'इंकलाब जिंदाबाद' की रचना प्रसिद्ध कवि मुहम्मद इकबाल ने की थी, किंतु पहली बार इसे नारे के रूप में प्रयोग भगत सिंह ने किया था। इन्होंने ही इस नारे को चर्चित बनाया।
भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को कब फांसी दी गई?
अ. 23 मार्च, 1932
ब. 23 मार्च, 1931
स. 23 मार्च, 1933
द. 23 मार्च, 1930
उत्तर — ब

अनुशीलन समिति थी?
अ. नारी उत्थान के प्रति समर्पित
ब. विधवा विवाह को प्रोत्साहित करने वाली
स. मजदूरों के कल्याण में रुचि रखने वाली
द. एक क्रांतिकारी संगठन
उत्तर— द
नोट— 'अनुशीलन समिति' एक क्रांतिकारी संगठन था। बंगाल में कुल 19 समितियों के होने के प्रमाण मिलते हैं। वर्ष 1902 में मिदनापुर में ज्ञानेन्द्र नाथ बसु द्वारा और कलकत्ता में प्रमथ मित्र, जतींद्र नाथ बनर्जी, बारींद्र नाथ घोष, भूपेन्द्र नाथ दत्त द्वारा समिति की स्थापित की गई थी। अरबिंद घोष कलकत्ता अनुशीलन समिति के मार्गदर्शक थे।
चिटगांव शस्त्र छापामारी की योजना बनाई गई थी?
अ.जतिन दास
ब.विधान घोष
स.सूर्यसेन
द.उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर— स
नोट— चटगांव शस्त्रागार धावे को 'मास्टर दा' के नाम से प्रसिद्ध सूर्यसेन ने अंजाम दिया था। सूर्यसेन ने बंगाल में इंडियन रिपब्लिकन आर्मी (आई.आर.ए.) की स्थापना की। इसके सदस्यों में अनंत सिंह, अंबिका चक्रवर्ती, लोकीनाथ, प्रीतिलता वाडेदर, गणेश घोष, कल्पना दत्त, आनंद गुप्त तथा टेगराबल प्रमुख थे। 18 अप्रैल, 1930 को सूर्यसेन ने अंग्रेजों के विरुद्ध युद्ध की घोषणा की। सूर्यसेन के नेतृत्व में आई.आर.ए. के सदस्यों ने चटगांव शस्त्रागार पर आक्रमण कर ​हथियारों पर कब्जा कर लिया। 22 मई, 1930 को आई.आर.ए. के सदस्यों और सेना के बीच संघर्ष हुआ, जिसमें 80 सैनिक और 12 क्रांतिकारी मारे गए। 16 फरवरी, 1933 को सूर्यसेन को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके ऊपर मुकदमा चला तथा 12 जनवरी, 1934 को उन्हें फांसी दे दी गई।
'निष्क्रिय विरोध' के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया?
अ. महात्मा गांधी
ब. बिपिनचन्द्र पाल
स. बाल गंगाधर तिलक
द. अरबिन्द घोष
उत्तर — द
'निष्क्रिय विरोध' के सिद्धांत का प्रतिपादन अरबिन्द घोष ने अपनी पुस्तक 'वन्दे मातरम्' में किया है। उनका मानना था कि अंग्रेजों को भारत अविलंब छोड़ देना चाहिए। जब तक अंग्रेज ऐसा नहीं करते तक तक उनके विरुद्ध विरोध प्रदर्शन करते रहना चाहिए।

No comments:

Post a Comment

Loading...