न्यूज़ पढ़ने के लिए क्लिक करें

न्यूज़ पढ़ने के लिए क्लिक करें
9.71 करोड़ में बिका यह कबूतर, आखिर क्या खूबी है इसकी

Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Thursday, November 15, 2018

भारत में विवाह के प्रकार


  • ‘मनुस्मृति में विवाह के आठ प्रकारों का उल्लेख किया गया है, जिसमें प्रथम चार विवाह प्रशंसनीय तथा शेष चार निंदनीय माने जाते हैं-
प्रशंसनीय विवाह
  1. ब्रह्म विवाह: कन्या के वयस्क होने पर उसके माता-पिता द्वारा योग्य वर खोजकर, उससे अपनी कन्या का विवाह करना।
  2. देव विवाह: यज्ञ करने वाले पुरोहित के साथ कन्या का विवाह।
  3. आर्ष विवाह: कन्या के पिता द्वारा यज्ञ कार्य हेतु एक अथवा दो गाय के बदले में अपनी कन्या का विवाह करना।
  4. प्रजापत्य विवाह: वर स्वयं कन्या के पिता से कन्या मांगकर विवाह करता था। निंदनीय विवाह
  5. आसुर विवाह: कन्या के पिता द्वारा धन के बदले में कन्या का विक्रय।
  6. गंधर्व विवाह: कन्या तथा पुरुष प्रेम अथवा कामुकता के वशीभूत होकर करते थे।
  7. पैशाच विवाह: सोई हुई अथवा विक्षिप्त कन्या के साथ सहवास कर विवाह करना।
  8. राक्षस विवाह: बलपूर्वक कन्या का छीनकर उससे विवाह करना। 

No comments:

Post a Comment

मोनाजाइट किसका अयस्क है

सिरका एसिटिक अम्ल का जलीय विलयन है। थर्माकोल को कृत्रिम रबड़ कहा जाता है।  कपूर को उर्द्धपातन विधि द्वारा शुद्ध किया जाता है। ‘त्रिक ...

Loading...