Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Monday, June 19, 2017

पेंशन योजनाओ को ऑनलाइन करने में अग्रणी रहने पर राजस्थान को मिला राष्ट्रीय अवॉर्ड

पेंशन योजनाओ को ऑनलाइन करने में अग्रणी रहने पर राजस्थान को मिला राष्ट्रीय अवॉर्ड


जयपुर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा पेंशन योजनाओ को ऑनलाइन करने में अग्रणी रहने पर राजस्थान को सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रीय अवार्ड मिला। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित पेंशन योजनाओं को ऑनलाइन सिस्टम डवलप कर डाटा अपग्रेडेशन कर लाखो पेंशनर्स को लाभ पहुंचानेे के लिए राजस्थान राज्य को राष्ट्रीय अवार्ड दिया गया।

राजस्थान में संचालित विभिन्न पेंशन योजनाओं को ऑनलाइन करने, भुगतान प्रक्रिया को पारदर्शी और सुगम बनाने, आधार एव भामाशाह योजना से लिंक कर अपग्रेडेशन करने पर 19 जून 2017 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में राजस्थान के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को राष्ट्रीय पुरस्कार से केन्द्रीय ग्रामीण विकास पंचायती राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री रामकृपाल यादव द्वारा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। विभाग की ओर से राष्ट्रीय अवार्ड को सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के निदेशक डॉ. समित शर्मा ने ग्रहण किया गया।

राजस्थान में 95 प्रतिशत पेंशनरों को आनलाईन बैंक खातों में भुगतान

राजस्थान में कुल 60 लाख 69 हजार 148 पेंशनर हैं उनमें से 58 लाख पेंशनरों को ऑनलाईन बैंक खातों के माध्यम से समय पर पूरी पारदर्शिता से पेंशन राशि का भुगतान किया जा रहा है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे के पहल पर 90 प्रतिशत पेंशनरों का भामाशाह एवं ई-मित्र केन्द्र के माध्यम से अब तक सीडेड किया जा चुका है।

इसके साथ विशेष प्रयासों से राजस्थान में 90 प्रतिशत पेंशनरों को प्रतिमाह के प्रथम सप्ताह में आनलाईन बैंक खातों के माध्यम से नियमित पेंशन राशि का भुगतान किया जा रहा है।

डॉ. अरूण चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में हुआ काम
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में राज्य के पेंशनरों को आनलाईन सिस्टम को विकसित करने, लाखों पेंशनधारियों को समय पर पेंशन दिलाने में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की टीम ने उत्कृष्ट कार्य किया है।

विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अशोक जैन, पूर्व निदेशक श्री अम्बरीष कुमार एवं श्री रवि जैन व निदेशक डॉ. समित शर्मा के अलावा अतिरिक्त निदेशक (पेंशन) श्री डी.सी.चौधरी, उप निदेशक (एसीपी) श्री मुकेश अरोड़ा, एसीपी श्री तपेश कश्यप सहित सभी जिला अधिकारियों की अहम भूमिका रही है।

No comments:

Post a Comment

Loading...