भारत में विलय के बाद भी किन तीन राज्यों ने भारत में शामिल होने में विलम्ब किया?

महात्मा गांधी द्वारा दक्षिण अफ्रीका में प्रकाशित की गई पत्रिका का नाम था-
अ. नवजीवन
ब. हरिजन
स. इण्डियन ओपीनियन
द. अफ्रीकन न्यूज
उत्तर - स
नोट- यह गुजराती, हिन्दी, तमिल और अंग्रेजी में प्रकाशित होता था।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वर्ष 1905 ई. के बनारस अधिवेशन के अध्यक्ष कौन थे?
अ. सुरेन्द्र नाथ बनर्जी
ब. फिरोज शाह मेहता
स. गोपाल कृष्ण गोखले
द. दिनशा वाचा
उत्तर - स
व्याख्या- यह कांग्रेस का इक्कीसवां अधिवेशन था और इसमें ही गोखले को ‘विपक्ष के नेता’ की उपाधि दी गई।

जलियांवाला बाग हत्याकांड के विरोध में निम्नलिखित में से किसने वाइसराय के कार्य परिषद से त्यागपत्र दे दिया था?
अ. रबींद्रनाथ टैगोर ब. मदनमोहन मालवीय
स. सर शंकर नायर द. उपर्युक्त सभी
उत्तर- स
व्याख्या- 13 अप्रैल, 1919 को पंजाब के अमृतसर के जलियांवाला बाग में हुए नरसंहार के विरोध में सी. शंकरन नायर ने वाइसराय की कार्यपरिषद से त्यागपत्र दे दिया था। रबींद्रनाथ टैगोर ने इस हत्याकांड के विरोध में अपनी ‘नाइटहुड’ की उपाधि त्याग दी थी।

जतिन दास किस आरोप में बंदी बनाए गए थे?
अ. मेरठ षड्यंत्र
ब. पेशावर षड्यंत्र
स. लाहौर षड्यंत्र
द. चिटगांव सशस्त्र लूट
उत्तर - स
व्याख्या- साण्डर्स हत्याकांड (लाहौरषड्यंत्र) के मामले में एचएसआरए के अनेक क्रांतिकारी गिरफ्तार किए गए और उन पर लाहौरषड्यंत्र कांड का केस चला। यही जतिन दास अपनी मांगों को पूरा करने के लिए भूख हड़ताल पर बैठ गए। वह 64वें शहीद हो गए।

महात्मा गांधी के साथ चम्पारण सत्याग्रह में भाग लेने वालों में सम्मिलित थे-
अ. वल्लभभाई पटेल और विनोबा भावे
ब. जवाहर लाल नेहरू और राजेन्द्र प्रसाद
स. राजेन्द्र प्रसाद और अनुग्रह नारायण सिन्हा
द. महादेव देसाई और मनीबेन पटेल
उत्तर - स
व्याख्या- नील की खेती से संबंधित विवाद में गांधी जी 1917 में राजकुमार शुक्ल के बुलाने पर चम्पारण गए। गांधीजी ने भारत से चम्पारन में पहली बार किसी अनुचित आदेश की अवज्ञा और शांतिपूर्ण तरीके से प्रतिरोध किया था। अतः अंग्रेज उनकी बात को मानने के लिए मजबूर हुए। इस अभियान में उनको ब्रज किशोर, राजेन्द्र प्रसाद, महादेव देसाई, नरहरि पारेख, जे बी कृपलानी तथा बिहार के अनेक बुद्धिजीवियों ने सहयोग किया था।

निम्न में से किसने असहयोग आंदोलन के दौरान अपनी वकालत छोड़ दी थी?
अ. महात्मा गांधी ने
ब. मदन मोहन मालवीय ने
स. तेजबहादुर सप्रू ने
द. चितरंजन दास ने
उत्तर - द
व्याख्या- असहयोग आंदोलन के समय वकीलों जैसे- सी आर दास, मोती लाल नेहरू, एम आर जयकर, किचलू, वल्लभ भाई पटेल, राजगोपालाचारी, टी प्रकाशम और आसफ अली ने वकालत छोड़ने से लोग बहुत प्रोत्साहित हुए। संख्या के मामले में पहले स्थान पर बंगाल रहा, उसके बाद आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब रहे।

अन्य रजवाड़ों के भारत में विलय के बाद भी किन तीन राज्यों ने भारत में शामिल होने में विलम्ब किया?
अ. जूनागढ़, मैसूर, जम्मू व कश्मीर
ब. जूनागढ़, हैदराबाद, जम्मू व कश्मीर
स. उदयपुर, कपूरथला, जम्मू व कश्मीर
द. हैदराबाद, उदयपुर, ट्रावनकोर
उत्तर - ब
व्याख्या- जूनागढ़ रियासत का 9 नवंबर, 1948 ई. को भारतीय संघ में विलय किया गया। हैदराबाद के निजाम ने 26 अक्टूबर, 1948 को विलय पत्र पर हस्ताक्षर किया था। जम्मू व कश्मीर के महाराजा हरीसिंह ने भी 26 अक्टूबर, 1947 को विलय पत्र पर हस्ताक्षर किया।

निम्नांकित में से किसने क्रांतिकारियों के एक गुप्त संगठन ‘अभिनव भारत’ की स्थापना की थी?
अ. अरविन्द घोष
ब. शचीन्द्र सान्याल
स. सूर्यसेन
द. वी डी सावरकर
उत्तर - द
व्याख्या- 1904 ई. में वीडी सावरकर ने ‘अभिनव भारत’ नामक क्रांतिकारी संगठन की स्थापना की। इस वर्ष सावरकर ने नासिक में गणपति उत्सव मनाने के सिलसिले के उद्देश्य से मित्र मेला नामक संस्था गठित की।

समाचार पत्र

अंग्रेजी भाषा का समाचार पत्र हिन्दू मद्रास से निकलता था, जिसके सम्पादन का कार्य सुब्रह्मण्यम अय्यर ने किया। ‘सुधारक’ गोपाल कृष्ण गोखले के सम्पादकत्व में सम्पादित होता था। ‘वायस ऑफ इंडिया’ दादाभाई नौरोजी से जुड़ा हुआ अखबार था। परंतु ‘बंगाली’ का संपादन सुरेन्द्र नाथ बनर्जी ने 1862 से बंगाली भाषा में शुरू किया। वर्ष 1897 ई तक यह साप्ताहिक रहा बाद में दैनिक रूप से छपने लगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post