भारत में वन्य जीवन


वन्य जीवों के संरक्षण के लिए 1972 में ‘वन्यजीव संरक्षण अधिनियम’ बनाया गया था। देश के कुल क्षेत्रफल का लगभग 4.75 प्रतिशत भाग राष्ट्रीय उद्यान, अभयारण्य एवं जीवमंडलीय आरक्षित क्षेत्र के अंतर्गत आता है।
सरकार ने विभिन्न वन्य जीवों एवं विलुप्त हो रही प्रजातियों के लिए कई परियोजनाएं प्रारम्भ की हैं, जैसे-
गिर शेर परियोजना, 1972
बाघ परियोजना, 1973
मगरमच्छ प्रजनन परियोजना, 1975
गैंडा संरक्षण परियोजना, 1987
हाथी परियोजना, 1992

राष्ट्रीय बाघ संरक्षण परियोजनाः-

राष्ट्रीय पशु बाघ की सुरक्षा के उद्देश्य से 1973 में बाघ परियोजना (प्रोजेक्ट टाइगर) आरम्भ की गई। इस परियोजना की शुरुआत उत्तराखंड के कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान से की गई थी।
29 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post