आर्कटिक में भारत का पहला अनुसंधान केन्द्र हिमाद्री Himadri


आर्कटिक क्षेत्र में भारत ने अपना पहला अनुसंधान केन्द्र ‘हिमाद्री’ की स्थापना की। उत्तरी ध्रुव से 1200 किमी दूर नि-एलिसंड में यह स्थापित किया गया है। नॉर्वे में स्पिट्सबजर्जन के पश्चिमी तट पर नि-एलिसंड ही सुदूर उत्तर में ऐसा स्थान है जहां मनुष्य रह सकते हैं। इस केन्द्र की देखरेख का कार्य गोवा स्थित नेशनल सेटर फॉर अंटार्कटिका एण्ड ओशन रिसर्च द्वारा किया जायेगा। भारत ऐसा 11वां देश है जिसने आर्कटिक में अपना अनुसंधान केन्द्र स्थापित किया है।अन्य देशों में ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, इटली, चीन, जापान, द.कोरिया, नीदरलैण्ड्स व सवीडन के अतिरिक्त स्वयं नॉर्वे है। गोवा स्थि उक्त संस्थान हेतु अपना हपला अभियानद ल 3 अगस्त, 2007 को नई दिल्ली से रवाना किया था। 5 सदस्यीय इस दल की नई दिल्ली वाससी 8 सितंबर 2008 को हुई थी।अंटार्कटिका में भारत ने अपना पहला अनुसंधान केन्द्र ‘दक्षिण गंगोत्री’ 1981 में स्थापित किया था। बाद में ‘मैत्री’ भी स्थापित किया।x

Post a Comment

Previous Post Next Post