धोलावीरा यूनेस्को विश्व विरासत सूची में शामिल

 

धोलावीरा यूनेस्को विश्व विरासत


गुजरात के कच्छ में स्थित हड़प्पाकालीन नगर धोलावीरा को यूनेस्को ने अपनी विश्व विरासत सूची में शामिल कर लिया है। 

हड़प्पा, मोहनजोदड़ो, गनेरीवाला, राखीगढ़, धौलावीरा तथा लोथल हड़प्पा संस्कृति के 6 प्रमुख स्थल माने जाते हैं। 


इन्द्र - 21 


यह भारत और रूस के मध्य 1 से 13 अगस्त तक रूस के वोल्गाग्राद (Volgograd) में संयुक्त सैन्य अभ्यास है। 

दोनों देशों की सेना के बीच यह 12वां संस्करण है। 

इस सैन्य अभ्यास को इन्द्र-21 नाम दिया गया है। इसमें भारतीय सेना की मैकेनाइज्ड इंफेंट्री बटालियन शामिल होगी। इस बटालियन को भारत के विभिन्न् हिस्सों में कठिन प्रशिक्षण दिया गया है, जिसकी बदौलत बटालियन ने संयुक्ताभ्यास में हिस्सा लेने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। इस युद्धाभ्यास में दोनों देशों के 250 सैन्यकर्मी भाग लेंगे।

इस संयुक्त अभ्यास में अंतरराष्ट्रीय आंतकी समूहों के खिलाफ संयुक्त कार्रवाई संबंधी संयुक्त राष्ट्र के फैसले के अनुपालन में दोनों देशों की सेनाएं आतंक विरोधी अभ्यास करेंगी। 

इससे भारतीय और रूसी सेनाओं के मध्य आपसी तालमेल और आपस में सहयोग करके कार्रवाई करने की क्षमता विकसित होगी। इस अभ्यास के दौरान दोनों सेनाएं आपस में अपनी कुशलता साझा करेंगी। इससे दोनों देशों के बीच लंबे समय से चल रहे सौहार्दपूर्ण मैत्री संबंध भी मजबूत होंगे। अभ्यास इंद्र-21 दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करने का एक और मील का पत्थर साबित होगा।

घर-घर औषधि योजना का शुभारम्भ  

01 अगस्त, 2021 को मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों की स्वास्थ्य रक्षा तथा औषधीय पौधों के संरक्षण एवं संवर्धन की दृष्टि से राज्य सरकार ने 'घर-घर औषधि योजना' का शुभारम्भ किया। राजस्थान संभवतः पहला प्रदेश है, जिसने औषधीय पौधों के प्रति जन चेतना जागृत करने के लिए वृहद स्तर पर ऐसी अनूठी योजना लागू की है। उन्होंने गिलोय का औषधीय पौधा लगाकर योजना की शुरूआत की।

ड्रिंक फ्रॉम टैप सुविधा देने वाला देश का पहला शहर है?

- पुरी (ओडिशा)

यह शहर सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने वाला देशा का पहला शहर है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस

प्रतिवर्ष 28 जुलाई को मनाया जाता है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वर्ष 2021 की थीम 'Hepatitis can't wait' निर्धारित की है। जिसके अंतर्गत हेपेटाइटिस को लेकर लोगों को जागरूक करना एवं उन्हें शीघ्र इलाज के लिए जागरूक करना है।

Post a Comment

0 Comments