जयपुर नगर निगम की अनदेखी कहीं राहगीरों को महंगी न पड़ जाए


  • यह सत्य है कि जयपुर बहुत सुंदर शहर है और विश्व के सुन्दर शहरों में इसकी गिनती की जाती हैं। जिसे गुलाबी नगरी जैसे अनेक नामों से जाना जाता है। यदि ऐसे शहर में रोड़ पर या फुटपाथ पर यदि गड्ढ़े हो तो उसकी सुन्दरता पर प्रश्न चिह्न उठने लगते हैं। साथ ही सफाई कर्मचारियों पर भी। ऐसा ही नजारा देखने को मिला अंबेडकर सर्किल से रामबाग की ओर आने वाले फुटपाथ पर पिछले डेढ़ साल से भी ज्यादा समय से मैं उस पर पैदल चलता रहा हूं। 
  • माना यहाँ अधिकारी दोषी कम हो सकते हैं पर जो सफाई कर्मी है वह तो सफाई के दौरान इस फुटपाथ पर बने गड्ढे की अनदेखी कर किसी राहगीर के लिए बड़ी दुर्घटना को बुलावा दे रहे हैं। मैं जब भी इस ओर से पैदल गुजरता हूं तो इस गहरे गड्ढे को देख कर प्रशासन के सुस्तपन पर दुःख होता है। किंतु न तो किसी कर्मचारी का ही ध्यान उस पर गया और न ही नगर निगम के कर्मचारियों का।
  • ऐसा नहीं है इस फुटपाथ पर कोई गुजरता नहीं है बल्कि यहाँ पर कई बड़ी सभाओं का आयोजन हो चुका है जिनमें प्रधानमंत्री की लाभार्थियों से जनसंवाद प्रमुख है।
  • यह गड्ढा शाही बाग से थोड़ी दूरी पर है। इस गड्ढे से किसी पैदल चलते राहगीर को चोट पहुँच सकती है। यह गड्ढा  पिछले डेढ़ साल से भी ज्यादा समय से मैं देख रहा हूँ।

Post a Comment

Previous Post Next Post