Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Sunday, February 11, 2018

इंजीनियरिंग उद्योग



  • वर्तमान में लगभग 51 बड़े एवं मध्यम श्रेणी के इंजीनियरिंग उद्योग है। 
राज्य के महत्त्वपूर्ण इंजीनियरिंग उद्योग निम्नांकित हैं -
  • हिन्दुस्तान मशीन टूल्स, अजमेर - भारत सरकार का उपक्रम है, जिसकी स्थापना 1967 ई. में सूक्ष्म मशीनों के निर्माण  हेतु की गई। यहां विविध उपयोगी मशीनों के अतिरिक्त एच.एम.टी. घड़ियों का उत्पादन किया जाता है।
  • इन्स्ट्रूेन्टेशन लिमिटेड, कोटा - भारत सरकार का उपक्रम है, जिसकी स्थापना 1964 ई. की गई। यहां विशिष्ट प्रकार की मशीनें जिनमें कंट्रोल यंत्र, मेगनेटिक इलेक्ट्रिकल यंत्र, ऑटोमैटिक इण्डीकेटर्स, रिकार्डिंग एवं कंट्रोल यंत्रों का उत्पादन किया जाता है।
  • इसकी सहायक कम्पनी राजस्थान इलेक्ट्रोनिक एण्ड इन्स्ट्रूमेंट्स लिमिटेड, जयपुर है।
  • उपरोक्त सरकारी औद्योगिक उपक्रमों के अतिरिक्त राज्य में निम्नांकित प्रमुख इंजीनियरिंग उद्योग केन्द्र हैं-

  1. जयपुर मेटल्स, जयपुर (बिजली के मीटर)
  2. कैप्सटन मीटर कम्पनी, जयपुर और पाली (पानी के मीटर) 
  3. मान इन्डस्ट्रीयल कॉरपोरेशन, जयपुर (लोहे के टावर, खिड़कियां आदि)
  4. सिमको वैगन फैक्ट्री, भरतपुर ( रेल के डिब्बे)
  5. ओरियन्टल पॉवर केबिल इएडस्ट्री, कोटा
  6. नेशनल इंजीनियरिंग कम्पनी जयपुर में विभिन्न प्रकार के बाल-बियरिंग बनाने वाली और अपने प्रकार की देश में सबसे प्रमुख कम्पनी है।
  7. राजस्थान इलेक्ट्रोनिक्स कॉर्पोरेशन, जयपुर टेलीविजन 
  8. अवन्ती स्कूटर्स, अलवर
  9. लेलैण्ड ट्रक कारखाना, अलवर
  10. राजस्थान टेलीफोन इण्डस्ट्रीज, भिवाड़ी
  11. वैगन फैक्ट्री, कोटा
  12. लोको एण्ड कैरिज वर्कशॉप, अजमेर


रसायन एवं उर्वरक उद्योग

  • रसायन उद्योग के अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा ‘राजस्थान स्टेट केमिकल वर्क्स’ की स्थापना डीडवाना में की गई। इसकी तीन इकाइयां हैं-

सोडियम सल्फेट वर्क्स -
  • जिसकी स्थापना 1964 ई. में की गई तथा इसमें नमक से अलग हुए सल्फेट से सोडियम सल्फेट बनाया जाता है।
  • सोडियम सल्फेट संयंत्र -
  • इसमें शुद्ध नमक बनाया जाता है।


सोडियम सल्फाइट फैक्ट्री -
  • इसमें क्रूड सल्फेट व कोयले की रासायनिक क्रिया से सोडियम सल्फाइड बनाया जाता है, जिसका उपयोग चमड़ा एवं रंगाई उद्योग में होता है।
  • सल्फ्यूरकि एसिड का प्लांट अलवर में है। 
  • खेतड़ी के तांबा संयंत्र एवं देबारी के जिंक संयंत्र के साथ स्थापित इकाइयों में भी सल्फ्यूरिक एसिड का उत्पादन किया जाता है। 
  • मेदी अल्केलीज एण्ड केमीकल्स भीलवाड़ा का रयायन उद्योग है।
  • उर्वरकों में कोटा में श्रीराम फर्टीलाइजर उद्योग है तथा कोटा के ही निकट चम्बल फर्टीलाइजर नाम से एक उद्योग गढ़ेपान में स्थापित किया गया है।
  • उर्वरक संयंत्र गड़ेपान, कोटा 
  • देबारी के जिंक स्मेल्टर से भी रासायनिक उर्वरक का उत्पादन किया जा रहा है।

नमक का उत्पादन राजकीय उपक्रम -
  • राजस्थान स्टेट केमिकल वर्क्स, डीडवाना 1964 ई. में स्थापित
  • राजस्थान स्टेट केमिकल वर्क्स, डीडवाना 1966 ई. में स्थापित
  • राजस्थान सरकार साल्ट वर्क्स, डीडवाना 1960 ई. में स्थापित
  • राजस्थान सरकार साल्ट वर्क्स, पंचपद्रा 1960 ई. में स्थापित


कांच उद्योग 

  • कांच बनाने के लिए सिलिका सैण्ड प्रमुख कच्चा माल है, जो राजस्थान में जयपुर, बीकानेर, बूंदी तथा धौलपुर में उत्तम श्रेणी का उपलब्ध है।
  • धौलपुर ग्लास वर्क्स - धौलपुर
  • दी हाई टेक्नीकल प्रीसीजन ग्लास वर्क्स (हाईटेक) राजस्थान सकरकार का प्रतिष्ठान है, जो गंगानगर शुगर मिल के अन्तर्गत है।

ये भी पढ़ें - 

सूती वस्त्र उद्योग  

No comments:

Post a Comment

Loading...