Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Friday, February 9, 2018

राजस्थान की वे चट्टानें जिन्हें देखकर आप भी दंग रह जाएंगे

  • राजस्थान के कलाकारों ने वास्तुकला, शिल्पकला तथा चित्रकला के जो उदाहरण प्रस्तुत किए हैं वे अपने आप में अनूठे हैं। किन्तु यहां प्रकृति ने जो देन राजस्थान को दी है वो किसी आश्चर्य से कम नहीं है।
  • प्रकृति ने राजस्थान को अनेक आश्चर्यजनक चट्टानें दी है जिनके बारें में हम जानेंगे -
  • माउंट आबू में झील के चारों ओर अद्भुत आकारों वाली अनेक चट्टाने हैं। उनमें से एक विशाल चट्टान है जिसे ‘टॉड रॉक’ कहा जाता है।
  • इस चट्टान का नाम ‘टॉड रॉक’ इसलिए पड़ा कि यह चट्टान मेंढ़क के आकर की है। अंग्रेजी भाषा में मेंढ़क को ‘टॉड’ कहा जाता है। यह चट्टान मेंढ़क के आकार की अवश्य है, किंतु मेंढ़क जितनी छोटी नहीं है। यह अनेक हाथियों जितनी बड़ी है।
  • नक्की झील के किनारे होने के कारण इसमें वास्तविक सुन्दरता समा गई है। यह ऐसी लगती है जैसे कोई विशालकाय मेढ़क झील में छलांग लगाने वाला हो।
  • बहुत से लोग माउंट आबू की सैर करने आते हैं वे इस स्थान पर जरूर आते हैं और प्रकृति के इस आश्चर्य को देखकर वे अत्यंत प्रसन्न होते हैं।




  • कोटा में चम्बल अधरशिला के बारे में एक किंवदन्ति है कि यहां एक पहुंचा हुआ फकीर रहता था। एक दिन उसे एक शिलाखंड आसमान में उड़ता हुआ दिखाई दिया। 
  • उसे लगा जैसे वह शिलाखंड किसी दुरात्मा द्वारा बस्ती को नष्ट करने के लिए फेंका गया है। इसलिए उसने अपनी पवित्र आत्मा से भगवान का ध्यान किया और उस शिलाखंड को वहीं अधर में लटके रहने का श्राप दे दिया। इसके बाद आज तक वह अधरशिला बिना किसी सहारे के वही रूकी हुई है। 
  • ऐसा प्रतीत होता है जैसे कोई काल पुरूष नदी की ओर मुंह किए हुए तनकर खड़ा हो। जहां इस शिला का टिकाव है, वह की जमीन पर इसका कोई जोड़ दिखाई नहीं देता है।

राजस्थान के सामान्य अध्ययन पढ़े - 

इतिहास 



No comments:

Post a Comment

Loading...