Thursday, November 30, 2017

बिटकॉइन bitcoin

बिटकॉइन क्या होती है?


बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है यानि झूठी मुद्रा। वर्तमान समय में वैश्विक वित्तीय लेन-देन और भुगतान के रूप में बिटकॉइन चर्चित हुआ है, लेकिन क्रिप्टो करेंसी का नियमित करने के लिए कोई दिशा-निर्देश न होने से यह काफी जोखिमपूर्ण मुद्रा बनी हुई है। बेशक अभी यह वैध मुद्रा नहीं है, लेकिन रिजर्व बैंक ने इसे अवैध घोषित नहीं किया है।

बिटकॉइन एक नई इनोवेटिव टेक्नोलॉजी है जि‍सका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा सकता है। बिटकॉइन एक नई इनोवेटिव डिजीटल टेक्नोलॉजी या वर्चुअल करंसी है। इसको 2008-2009 में सतोषी नाकामोतो नामक एक सॉफ्टवेयर डेवलपर ने प्रचलन में लाया था। कम्प्यूटर नेटवर्कों के जरिए इस मुद्रा से बिना किसी मध्‍यस्‍था के ट्रांजेक्‍शन किया जा सकता है। वहीं, इस डिजिटल करंसी को डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है। बिटकॉइन को क्रिप्टोकरेंसी भी कहा जाता है।

बिटकॉइन का इस्तेमाल फेमा कानून का उल्लंघन

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बिटकॉइन का इस्तेमाल करने वाले के दो ठिकानों पर छापे मारे है।

आजकल यह ब्‍लैक मनी, हवाला और आतंकी गतिविधियों में ज्‍यादा इस्‍तेमाल किए जाने की वजह से सुर्खियों में है। इसके बढ़ते इस्‍तेमाल ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। जबकि आरबीआई और किसी भी रेग्‍युलेटर ने इसे कानूनी मान्‍यता नहीं दी है।  



No comments:

Post a Comment

Loading...