न्यूज़ पढ़ने के लिए क्लिक करें

न्यूज़ पढ़ने के लिए क्लिक करें
9.71 करोड़ में बिका यह कबूतर, आखिर क्या खूबी है इसकी

Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Monday, September 11, 2017

वेदांग क्या है?


  • वेदों का अर्थ ठीक-ठीक समझने के लिए वेदांगों की रचना हुई।
  • वेदांग कुल 6 हैं। ये सूत्र साहित्य के अंतर्गत आते है। ये निम्नलिखित है-


  1. शिक्षा (स्वरविज्ञान): यह शुद्ध उच्चारण से सम्बन्धित है।
  2. व्याकरण: इसका संबंध भाषा संबंधी नियमों से हैं
  3. निरुक्त (यास्क): वैदिक शब्दों की व्युत्पत्ति से सम्बन्धित
  4. छंदः इसके दो भाग हैं- लौकिक एवं अलौकिक। वेदों में अलौकिक छंद का प्रयोग।
  5. ज्योतिषः इसके दो भाग हैं- गणित ज्योतिष और फलित ज्योतिष
  6. कल्प (धर्मानुष्ठान): ये ऐतिहासिक दृष्टिकोण से सबसे महत्त्वपूर्ण हैं। कल्प नामक वेदांग में छोटे-छोटे वाक्यों में सूत्र बनाकर महत्वपूर्ण वैदिक विधि-विधानों को प्रस्तुत किया गया। इसके निम्न चार भाग हैं-


  • अ. श्रौत सूत्र- इसमें यज्ञ सम्बंधी नियम-विनियम हैं।
  • ब. शुल्व सूत्र- इसमें यज्ञ वेदिकाओं के निर्माण एवं माप सम्बन्धी नियम हैं। ज्यामितीय गणित का आरंभ यहीं से हुआ माना जाता है।
  • स. गृह सूत्र- इसमें मनुष्य के गृहस्थ के लौकिक एवं पारलौकिक कर्त्तव्यों का वर्णन है।
  • द. धर्म सूत्र - इसमें धार्मिक, सामाजिक एवं राजनैतिक नियमों की चर्चा है। ये भारतीय विधि के प्रारंभिक स्रोत है।


No comments:

Post a Comment

कॉम्पिटीशन हेराल्ड क्विज में भाग लीजिए और जीतिए एक पुस्तक फ्री उपहार में

कॉम्पिटीशन हेराल्ड द्वारा अब हर हफ्ते फेसबुक के माध्यम से एक प्रतियोगी परीक्षा करवायी जाएगी। जिसमें पांच या अधिक प्रश्न होंगे। आपको सभी...

Loading...