Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Wednesday, September 6, 2017

राजस्थान सरकार की आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्ण जातियों के अभ्यर्थियों को प्रोत्साहन योजना



राजस्थान सरकार ने सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े अभ्यर्थियों को आगे की शिक्षा को सुचारू रूप से चालू रखने के लिए एवं प्रतियोगी परीक्षाओं में चयनित होने पर सहायता राशि प्रदान करने के लिए आर्थिक सहायता योजना शुरू की है। इस योजना में निम्नलिखित अभ्यर्थियों को सहायता मिलेगी-

IIT, IIM, AIIMS, NLU, IISc में प्रवे पाने वाले प्रथम 100 छात्र-छात्राओं को 25,000 रुपये की एक मुश्त सहायता एवं प्रस्ति पत्र दिये जायेगें।

राज्य स्तरीय प्रतियोगी परीक्षा (RSA Exam) में अन्तिम चयन होने पर प्रथम 100 प्रतियोगियों को 30,000 रुपये की एक मुश्त सहायता राशि दी जायेगी।

All India Services (IAS, IPS, IFS) में अन्तिम चयन होने पर प्रथम 50 प्रतियोगियों को 50,000 रुपये की एक मुश्त सहायता राशि दी जायेगी।

योजना की पात्रता-
- अभ्यर्थी राजस्थान राज्य का मूल निवासी हो।
- राजस्थान मूल के आर्थिक पिछड़ा वर्ग के (जो अनुसूचित जाति/जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग का न हो) परिवार का सदस्य हो।
- विभाग द्वारा संचालित अनुप्रति योजना का लाभ नहीं ले रहा हो।
- अभ्यर्थी के माता-पिता/अभिभावकों की वार्षिक आय 2.50 लाख से अधिक न हो।
- अभ्यर्थी का प्रतियोगी परीक्षा में अन्तिम रूप से चयन हो गया हो।
- अभ्यर्थी द्वारा IIT, IIM, AIIMS, NLU, IISc प्रवे परीक्षा उत्तीर्ण कर शिक्षण संस्थाओं में प्रवे ले लिया हो।

अधिक जानकारी हेतु निदेशालय, जयपुर/जिला कार्यालय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में सम्पर्क करें या विभाग की वेबसाwww.sje.rajasthan.gov.in देखें।


No comments:

Post a Comment

Loading...