Competition Herald आज ही Online खरीदे 50% डिस्काउंट पर

Thursday, July 6, 2017

ई-गवर्नेंस क्या है ? इससे होने वाले प्रमुख लाभों का उल्लेख करें ?




  • ई-गवर्नेंस परंपरागत शासन व्यवस्था से भिन्न एक ऐसी शासन-पद्धति है, जिसमें शासन के प्रत्येक क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जाता है। ई-गवर्नेंस के अंतर्गत सरकारी एवं सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थानों, कार्यालयों, विभागों आदि के विषय में सूचना एवं उनकी सेवाओं को सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से जनता तक पहुंचाया जाता है। ई-गवर्नेंस के माध्यम से होने वाले कार्य को तीन चरणों में विभाजित किया जा सकता है-


  1. इंटरनेट द्वारा विभागों, मंत्रालयों, कार्यालयों आदि के विषय में सूचना प्राप्त करना।
  2. इंटरनेट के माध्यम से प्रश्न भेजना और उनके उत्तर प्राप्त करना।
  3. सम्बंधित विभाग अथवा कार्यालय की संपूर्ण सेवा की इंटरनेट पर उपलब्ध कराना।


  • परम्परागत शासन व्यवस्था सरकारी कर्मचयारियों एवं फाइलों पर आधारित है, जबकि ई-गवर्नेंस सूचना प्रौद्योगिकी पर आधारित है, इसमें शासन व्यवस्था को कागज रहित बनाये जाने पर बल दिया जाता है।
  • ई-गवर्नेंस से होने वाले प्रमुख लाभ इस प्रकार है-


  1. सरकार की कार्यकुषलता एवं कार्यदक्षता में गुणात्मक वृद्धि
  2. शासन व्यवस्था में बेहतर पारदर्षिता अर्थात् भ्रष्टाचार तथा रिष्वतखोरी के मामलों में कमी।
  3. कार्यों के शीघ्र संपादन के फलस्वरूप् बहुमूल्य श्रम और ऊर्जा की बचत।
  4. जरूरी कागजातों अथवा दस्तावेजों की सूचना कम्प्यूटर में सुरक्षित होने के कारण उनके खो जाने का खतरा समाप्त।
  5. सम्बन्धित विभागों अथवा कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों तथा कर्मचारियों का कार्यों के प्रति अधिक सचेत तथा उत्तरदायी होना अर्थात् व्यवस्था का दुरुस्त होना।
  6. फाइलों और अलमारियों आदि की आवष्यकता बहुत कम रह जाने के कारण कार्यस्थल पर स्वच्छता तथा सुव्यवस्था होना।


No comments:

Post a Comment

Loading...